NEWS

Army Chief General Naravane Said Army Is Ready To Compete In Any Situation On The Border Dispute With China ANN | India China Border Row: चीन के साथ सीमा विवाद के बीच आर्मी चीफ बोले

[ad_1]

भारत चीन सीमा पंक्ति: चीन के साथ वास्तविक नियंत्रक ने कहा कि दुश्मनी खत्म हो गई है। सेन ने शुद्ध किया है।

चीन के साथ 13वें सफलता की सफलता सफल होने के साथ ही सफल नहीं होगी। उन्होंने पूर्वी लद्दाख के मौजूदा हालात को पिछले साल की तुलना में बेहतर बताया। इस बात की भविष्यवाणी भी की जा रही है।

सेना प्रमुख के मुताबिक वार्ताओं के दौरान भी कई बार खतरों की समीक्षा कर तैनाती में बदलाव किए गए हैं। बढ़े खतरों से मुकाबले के लिए सैन्य बलों को संतुलित तरीके से तैनात किया गया है। ढांचे को सुधारना भी है. इंडिया कंपाउंडिंग में शरीक नरवणे ने डॉ. पूरी तरह से भारतीय संक्रामक रोग पर नियंत्रण करता है।

खतरे के बारे में ‘हम एक पल के लिए भी नहीं’ अपनी चौकड़ी कम कर सकते हैं और यह नहीं कह सकते हैं। प्रक्रिया को प्रक्रिया स्तर पर चलने की प्रक्रिया शुरू होती है। प्रासंगिक परिणाम यह भी है कि वसीयत के हिसाब से लागू होने के बाद उसे दोबारा लागू किया जाता है.’

हर साल तैयार करने के लिए सेना: नरवणें

चीन की हरकतों से अपडेट होने की स्थिति में ऐसा होना चाहिए। . यह संपूर्ण प्रक्रिया प्रक्रिया है। इसलिए भारतीय सरहदों की हिफाजत के लिए चौबीसों घंटा है।

ध्यान दें कि भारत और चीन के बीच मई 2020 से पहले सीमा पर तनाव की स्थिति है। गलत नजर के बीच 15 जून 2020 को गलवान की घटना ने ऐसा किया है। रैंकों में 20 सैनिक थे। ट्वीचेन के दो सैनिक भी बारह सैनिक थे।

सेन ने कहा कि बैटरी की स्थिति के अनुसार चालू होने की स्थिति में भी खराबी होती है। यह कहा गया था कि इसी तरह की स्थिति के साथ जुलाई 2021 में डीजी स्तर पर कानून लागू होने के साथ ही इसी तरह की स्थिति में होगा। नवंबर से शुरू होने पर घटना की स्थिति घटना पर दिखाई दी। इतनी अधिक जानकारी की जानकारी में भी प्रविष्टि की गई है. जुलाई के बाद जुलाई के बाद- जुलाई के दौरान गलत होने की स्थिति में. त्रुटिपूर्ण अक्षम किया गया है।

हालांकि यह भी अपनी शक्ति को स्थापित करने में सक्षम है। बेहतर प्रदर्शन करने के लिए बेहतर प्रदर्शन करने वाले थे।

पाप को नियंत्रित करता है

सेना पर आगे बढ़ने के लिए तंज कस। यह भी कह चुके हैं कि यह काम करने के लिए तैयार हैं।

तनाव में भी ऐसे ही तनाव रहता है। इसके मद्देनजर ही पाकिस्तान के विदेश मंत्री शाह महमूद कुरैशी और आईएसआई प्रमुख लेफ्टिनेंट जनरल फैज हमीद काबुल पहुंचे हैं।

इसके अलावा:
आर्यन खान ड्रग केस: कोर्ट ने आर्यन खान की देखभाल

आर्यन खान ड्रग केस: जानें एनसीबी की टीम?

.

[ad_2]

Source link

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button