Religion

Karwa Chauth 2021 Vrat Katha Read This Vrat Story During Karwa Puja Know Importance And Vidhi

[ad_1]

करवा चौथ 2021 व्रत कथा: तारीख़ दिसंबर माह के मंगल ग्रह की तारीख के अनुसार, मंगल, अखंड और अखंड सुहाग की तारीख के लिए निजला व्रत है। करवा चौथ का पति-पत्नी के अखंड प्रेम और वैवाहिक की सचेतन का चिह्न। 24 घंटे व्यस्त रहने वाले व्यस्त व्यस्त व्यक्ति अपने मंगल के लिए खुश हों। महिला दिन भर व्रत शुभ मुहूर्त में साथ-साथ शिव-पार्वती, गणेश और कार्तिकेय की भी पूजा हैं। आज के समय में करवा चौथ नारी शक्ति का प्रतीक है। पूजा के समय करवाएं व्रत व्रत की कथाएं। व्रत करने के लिए कहा जाता है।

करवा चौथ व्रती कथा (करवा चौथ 2021 व्रत कथा):

प्राचीन समय में पुरानी पुरानी स्थिति में रहते थे। एक दिन खराब हो गया। नाली में घुसने की जगह. अपनी सुरक्षा के लिए अपनी पत्नी करवा कोवशा। पति की पत्नी की रक्षा करने के लिए, एक वार से… दैनिक का एक सिरा रखने के साथ यमराज के पास. करवा ने साहस के साथ यमराज के उत्तर दिए।

यमराज ने करवा की हिम्मत को वापस किया। साथ ही करवा को सुख-समृद्धि का वर और कहा जाता है ‘जो शहीद व्रत द्वारा करवा को दैव, सौभाग्य की मैं रक्षा करता हूं। इस घटना के दिन मंगल के कृष्णोत्सव की तिथि समाप्त हो गई। से करवा चौथ का अभ्यास

यह भी आगे:-

.

[ad_2]

Source link

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button